मोह

कौन केहता है मोह गलत हैमोह किस बात का है उसपे निर्भर करता हैयदि मोह सुख का लगे तो दुःख बन जाता हैऔर मोह मुक्ति का लगे तो मोह खुद मुक्त हो जाता है – Pooja R. | © Tatva Musings